Shri Krishna Janmashtami 2023: क्यों ख़ास है 2023 का श्री कृष्ण जन्माष्टमी

Shri Krishna Janmashtami 2023: 2023 का कृष्ण जन्माष्टमी क्यों है इतना ख़ास? इस साल का जन्माष्टमी बहुत बड़ा महत्व रखता है। वैसे तो हर जन्माष्टमी एक बहुत बड़ा महत्व रखता है। क्योंकि इस दिन (Shri Krishna Janmashtami 2023) हमारे प्रभु श्री कृष्ण का जन्म हुआ था। जन्माष्टमी में क्या-क्या चीज करना चाहिए और इस साल के जन्माष्टमी में क्या-क्या शुभ मुहूर्त बन रही हैं?

Shri Krishna Janmashtami 2023: आपके लिए और आपके जीवन में खुशहाली लाने के लिए इन सब से जुड़ी सारी जानकारी हम आपको देंगे। इस साल का जन्माष्टमी बहुत शुभ मुहूर्त में बन रहा है। कृष्ण जन्माष्टमी करने वाला हर एक व्यक्ति को इस बात का ध्यान रखना चाहिए।

Table of Contents

इस साल का जन्माष्टमी किस दिन है? – Shri Krishna Janmashtami kab hai 2023

Shri Krishna Janmashtami kab hai 2023: 2023 जन्माष्टमी 2 दिन है। वह 2 दिन है 6 सितंबर और 7 सितंबर। इन दोनों दिन हम लोग कृष्ण जन्माष्टमी के रूप में मनाएंगे। और दोनों दिन ही पूजा-अर्चना के साथ भगवान की आराधना करेंगे। लेकिन चलिए हम आज आपको उन दोनों दिनों के बारे में विशेष करके समझाएंगे।

6 सितंबर का जन्माष्टमी का पूजा करने का सबसे शुभ मुहूर्त 11:56 से शुरू होती है जो की पूजा करने के लिए एक शुभ मुहूर्त के रूप में माना जा रहा है। और 6 सितंबर का सबसे शुभ मुहूर्त भी यही है। और 6 सितंबर रात 11:56 से लेकर 7 सितंबर 12:42 तक बहुत ही अत्यंत शुभ मुहूर्त माना जा रहा है। क्योंकि भगवान श्री कृष्णा जी का भी इसी समय में ही जन्म हुआ था। रात के 12:00 बजे हमारे श्री कृष्ण भगवान पधारे थे इस धरती लोक पर।

आखिरकार भगवान का जन्मदिन 2 दिन क्यों मनाते हैं? Shri Krishna Janmashtami kab Ki hai 2023

Shri Krishna Janmashtami kab Ki hai 2023: आखिर हम लोग और सभी लोग भगवान का जन्मदिन दो दिन क्यों मनाते हैं। इसके पीछे की कहानी यह है कि भगवान का जन्म आधी रात को हुई थी। इसी कारण से सभी गृहस्थ जीवन के लोग एक दिन पूर्व ही कृष्ण जन्माष्टमी मानते हैं। तो सभी वैष्णव लोग एक दिन बाद उनका जन्मदिन मनाते हैं। इसी चलते से उसी दिन से कृष्ण जन्माष्टमी को दो दिन के रूप में सभी सनातनी लोग और भाई बंधु मानते चले आ रहे हैं।

श्री कृष्ण का जन्म कब हुआ था? Shri Krishna Janmashtami kab Ki hai 2023

Shri Krishna Janmashtami 2023
Shri Krishna Janmashtami 2023

Shri Krishna Janmashtami kab Ki hai 2023: श्री कृष्ण का जन्म का पूरा सच तो नहीं पर जो पुराणों तथा वेदों में लिखा हुआ है उसके आधार पर हम आपको जानकारी देने की कोशिश करते हैं। हमारे प्रभु श्री कृष्ण का जन्म 3228 ईसवी पूर्व हुआ था। और वे इस धरती को 3102 ईसवी पूर्व छोड़कर चले गए थे। और जब प्रभु का जन्म हुआ था उसी दिन से हम लोग श्री कृष्ण जन्माष्टमी के रूप में जानते हैं और मनाते हैं।

2023 भगवान श्री कृष्ण का कैमा जन्मदिन है? – Shri Krishna Janmashtami kab hai 2023

Shri Krishna Janmashtami kab hai 2023: भगवान श्री कृष्णा का इस साल कितना उम्र हो जाएगा। हिंदू पुरान और ग्रन्थ के अनुसार हमारे प्रभु श्री कृष्णा का जन्म का वर्णन तो करना बेकार ही है। क्योंकि जब धरती और ब्रह्मांड नहीं था, उस समय हमारे प्रभु थे। इस श्री कृष्ण जन्माष्टमी में प्रभु का 5250वां जन्मोत्सव मनाया जाएगा। और सभी हिंदू भाइयों-बहनों बहुत खुशी के साथ इस जन्माष्टमी को मनाएंगे। क्योंकि प्रभु 5250 साल से हमारे धरती की रक्षा कर रहे हैं। इन्हीं के उपलक्ष में उनका जन्मदिन हर्षोल्लास के साथ सभी लोग मनाएंगे।

आज के दिन छोटे-छोटे बच्चे भगवान श्री कृष्ण की तरह पोशाक पहन कर माथे पर मोर की पंखुड़ी लगाकर हाथ में बांसुरी लेकर कृष्ण जन्माष्टमी को मनाएंगे और मिठाई-मक्खन खाएंगे। माखन तथा मिश्री प्रभु जी को अत्यंत प्रिय था तो आज के दिन भगवान को माखन तथा मिश्री का भोग भी लगाया जाता है।

ये भी पढ़ें>> श्री कृष्ण जन्माष्टमी कब और क्यों मनाया जाता है?

Shri Krishna Janmashtami kab hai 2023: जिस समय भगवान का जन्म हुआ था उस समय पूरे धरती पर सन्नाटा छा गई थी। आंधी तूफान और वर्षा ही बरस रहा था। रेवती नक्षत्र में भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ था। पूरे संसार में बादल की गर्जना से पूरा पृथ्वी थररा रही थी। उस समय मात्र दो ही इंसान जगे हुए थे। भगवान श्री कृष्ण के पिताजी वासुदेव जी और उनकी माता देवकी मैया। यह दो लोग ही इस संसार की गर्जना को सुन रहे थे।

इस साल कृष्ण जन्माष्टमी में रात को जागरण अवश्य करें। भक्ति गीत गाए, भगवान का भजन और कीर्तन करें, भगवान श्री कृष्ण के आने का स्वागत करें ढोल नगाड़े बजाए। लेकिन फल सभी को एक समान ही मिलेंगे भगवान के लिए सब लोग एक ही बराबर है उन्हें माखन और मिश्री का भोग अवश्य लगे भगवान श्री कृष्ण का भव्य स्वागत करें। आपका जीवन में खुशहाली ही खुशहाली होगा।

जो स्त्री को बच्चा नहीं होता है उनके लिए उपाय इस जन्माष्टमी में – Shri Krishna Janmashtami 2023

Shri Krishna Janmashtami 2023: जो स्त्री पुत्र की प्राप्ति की कामना करते हैं या उन्हें पुत्र नहीं होता है या पुत्र होकर किसी दुर्घटना हो जाती है वैसे स्त्री के लिए इस साल का कृष्ण जन्माष्टमी अवश्य करना चाहिए। उन्हें पुत्र फल की प्राप्ति अवश्य होगी। वैसे भी कृष्ण जन्माष्टमी करने से किसी भी स्त्री को पुत्र फल की प्राप्ति अवश्य होती है। और उसके अंगने में छोटे-छोटे बाल-गोपाल की किलकारियां खेलने लगते हैं।

भगवान का सुंदर रूप का वर्णन – Shri Krishna Janmashtami 2023

Shri Krishna Janmashtami 2023: भगवान का सुंदर रूप का वर्णन इस प्रकार है की भगवान एकदम सामले रंग के थे। सोने से चमक के कानों में कुंडल माथे पर मोर और उनका जुड़ा इस समान रहता है कि मानो कोई पहाड़ की छोटी हो।। उनके सुंदरता का वर्णन का कोई व्याख्या ही नहीं है।

इस पूरे संसार में उनके सुंदरता का एक प्रतिशत भी कोई आदमी नहीं हो सकता है। जो भी प्रभु को एक बार देखा है वो मंत्र मुग्ध हो जाता है। भगवान सुनहरे रंग के शरीर के साथ इस धरती पर अवतरित हुए थे।


kikahani

Leave a Comment