Shri Krishna Janmashtami 2024: श्री कृष्ण जन्माष्टमी का त्यौहार कब और क्यों मनाया जाता है?

Shri Krishna Janmashtami 2024: श्री कृष्ण जन्माष्टमी का त्यौहार कब और क्यों मनाया जाता है और इसदिन उपवास कैसे किया जाता है इन सारी बातों पर हम आज प्रकाश डालने जा रहे हैं। आप सभी हिंदू भाइयों एवं बहनों को पता ही होगा कि हमारे जीवन में श्री कृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार कितना महत्व रखता है और यह त्यौहार (Shri Krishna Janmashtami 2024) सिर्फ हम या आप नहीं मनाते हैं।

Shri Krishna Janmashtami 2024: और तो और यह त्यौहार किसी एक राज्य तक सिमित नहीं है। बल्कि इस त्यौहार को पूरे भारत वस् में मनाया जाता है। और साथ ही साथ विदेश के कई प्रांतों में भी इस त्यौहार को बड़े धूम धाम से मनाया जाता है। इस त्यौहार का बहुत ही बड़ा महत्व है। क्योंकि इसी दिन हमारे भगवान श्री कृष्ण जी का जन्म हुआ था। इसीलिए आशा है की आप इस पूरे आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

श्री कृष्ण जन्माष्टमी को किस-किस नाम से जाना जाता है? Shri Krishna Janmashtami kab hai 2024?

Shri Krishna Janmashtami kab hai 2024: जन्माष्टमी को कई तरह के नामों से जाना जाता है। यह हिंदू धर्म के पावन और पवित्र त्योहारों में से एक हैं। और इसे पूरे विश्व में हिंदू और सनातनी भाई-बहन एक साथ मनाते हैं। पर हर जगह पे इस पर्व को अलग-अलग नाम से जाना जाता है। और हर जगह पर इस त्यौहार को मनाने का तरीका भी थोड़ा सा अलग है। इसी प्रकार से श्री कृष्ण जन्माष्टमी (Shri Krishna Janmashtami 2024) को पांच या छह नाम से जाना जाता है।
1) गोकुलाष्टमी
2) श्री कृष्ण जन्माष्टमी या जन्माष्टमी – Shri Krishna Janmashtami 2024
3) सातम ऑटम
4) श्री कृष्ण जयंती
5) अष्टमी रोहिणी

पूरे भारत के अलग अलग जगह पर इसका नाम (Shri Krishna Janmashtami 2024) अलग-अलग है पर सब लोग इस दिन भगवान श्री कृष्ण की ही पूजा अर्चना करते हैं।

जन्माष्टमी किस नक्षत्र में मनाया जाता है – Shri Krishna Janmashtami 2024

Shri Krishna Janmashtami 2024: श्री कृष्ण जन्माष्टमी कब और किस नक्षत्र में मनाया जाता है? श्री कृष्ण जन्माष्टमी मनाने के लिए हर साल भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की आठवीं दिन पर श्री कृष्ण जयंती को मनाते हैं। और इस दिन को अष्टमीं भी कहते हैं। श्रीमद् भागवत पुराण के अनुसार श्री कृष्ण जी का जन्म जन्माष्टमी तिथि और रोहिणी नक्षत्र के वृषभ राशि में बुधवार के दिन हुआ था। और तब से इस दिन को हम लोग कृष्ण जन्माष्टमी के रूप में मनाते हैं।

जन्माष्टमी को किस भगवान के जन्मदिन के उपरांत मनाया जाता है? – Shri Krishna Janmashtami kab hai 2024

Shri Krishna Janmashtami 2023
Shri Krishna Janmashtami 2024

Read More Hindi story

Shri Krishna Janmashtami kab hai 2024: भगवान श्री कृष्ण जी के जन्म दिवस के रूप में हम लोग जन्माष्टमी का पवित्र एवं पावन त्यौहार को हम सब हिंदू भाई एवं बहन मनाते हैं। हम सब जानते हैं की हमारे नटखट गोपाल श्री कृष्ण जी को माखन मिश्री कितना पसंद है। इसीलिए इस दिन भगवन जी को माखन मिहरी का भोग लगाया जाता है।

श्री कृष्ण भगवान के माता-पिता का नाम क्या था? Shri Krishna Janmashtami kab hai 2024

भगवान कृष्ण के माता-पिता दो इंसान नहीं बल्कि चार इंसान को माना जाता है। उनके जन्म देने वाले माता-पिता कोई और थे तथा उनके लालन-पालन करने वाले माता-पिता कोई और थे।

तो चलिए जानते हैं उनको जन्म देने वाले माता-पिता कौन थे? उनके जन्म देने वाले माता-पिता का नाम माता देवकी और पिता वासुदेव थे। जो उनको कंस के कारागार में जन्म दिया था। तथा उनके लालन पालन करने वाले माता-पिता का नाम माता यशोदा और पिता का नाम बाबा नंदलाल था।

श्री कृष्ण का जन्म कहां हुआ – Shri Krishna Janmashtami kab ki hai 2024

भगवान श्री कृष्ण का जन्म स्थान को हम लोग यूपी के मथुरा जिले को मानते हैं। और सभी धार्मिक पुराने एवं ग्रंथो में भी यही लिखा है कि श्री कृष्ण का जन्म मथुरा में हुआ था। श्री कृष्णा हमारे भगवान श्री हरि विष्णु के अवतार थे। और द्वापर में जन्म लेकर दुष्ट और पापी कंस का वध करने के लिए आए थे। और इसी चलते भगवान श्री हरि विष्णु के अवतार का अंत करने के लिए दुस्ट कंश ने ना जाने इतने नाकामयाब प्रयत्न किये। पर हर बार उसके हाथ सिर्फ मात ही लगा।

कैसे मनाते हैं श्री कृष्ण जन्माष्टमी का त्यौहार – Shri Krishna Janmashtami kab hai 2024

Shri Krishna Janmashtami kab ki hai 2024: हिंदू धर्म में सबसे पवन एवं पूज्य माने जाने वाला त्योहार जन्माष्टमी को बहुत ही धूमधाम तरीके से मनाया जाता है। और श्री कृष्ण के जन्म को हर्षो-उलाश के साथ मनाया जाता है। कहीं पर दहीहंडी फोड़ने की भी परंपरा है तो कहीं पर कोई और परंपरा है। पर इस दिन जन्माष्टमी त्योहार को धूमधाम से लोग मानते हैं तथा इस दिन लोग सुबह नहा धोकर नए वस्त्र पहन कर मंदिर में जाते हैं और पूजा पाठ करते हैं।

तथा इस दिन पे भगवन श्री कृष्ण जी को माखन मिश्री का भोग लगाया जाता है। इस दिन अधिकांश सनातनी लोग उपवास या फलहार किया करते हैं। इस दिन मंदिरों तथा घरों में भगवत गीता का पाठ किया जाता है। मंदिरों में रात्रि 12:00 बजे लोग भगवान श्री कृष्ण के जन्मदिन पर आरती करते हुए और बाद में प्रसाद वितरण करते हैं।

श्री कृष्ण जन्माष्टमी व्रत कैसे करते हैं – Shri Krishna Janmashtami kab ki hai 2024

Shri Krishna Janmashtami kab hai 2024: श्री कृष्ण जन्माष्टमी व्रत करने के लिए इस दिन हम लोगों द्वारा उपवास रखा जाता है। तथा इस दिन भगवान श्री कृष्ण के प्रेम में और भक्ति में लीन होकर लोग गीत गाया करते हैं। और रात्रि में जागरण करके इस त्यौहार को मनाया जाता है। और मध्य रात्रि के जन्म के उपरांत शिशु या कृष्ण की मूर्ति को धोया और नहाया जाता है। उसके बाद उन्हें नए वस्त्र पहनाएं जाते हैं। फिर एक पालना पर उन्हें सुलाया जाता है।

फिर उसके बाद भक्तगण भोजन करते हैं। और मिठाई खाकर अपना उपवास पूरा करते हैं। इसी तरह से मनाई जाती है कृष्ण जन्माष्टमी का त्यौहार। आपको पता है हमारे यहाँ नन्हे बालको को कृष्ण जी जैसे ही कपडे पहनाये जाते है। और हमारे घरों में हर मईया अपने बच्चे को कृष्ण ही मानती है। और इस गौ माता के छोटे बछड़ो का भी पूजा किया जाता है।

श्री कृष्ण कौन थे – Shri Krishna Janmashtami kab ki hai 2024

Shri Krishna Janmashtami kab ki hai 2024: श्री कृष्ण कौन थे? कृष्ण जन्माष्टमी के दिन जिस की जन्माष्टमी है वह भगवान श्री कृष्ण को ही समर्पित है। श्री कृष्णा श्री हरि विष्णु जी के अवतार थे। वह दसवत्तारों में से आठवीं और 24में अवतार में से 22में अवतार थे। श्री कृष्ण के हर गुण से पूर्ण पंडित माना गया है।

इनके पास 24 कलाएं तथा ज्ञान थी। अभी तक जितने भी भगवान ने अवतार लिए थे उनमें से किन्हीं के पास चार किन्हीं के पास पांच तो किन्हीं के पास 6 तो किन्हीं के पास 12 कला थी पर हमारे भगवान श्री कृष्ण के पास बार 24 कलाएं थी जिससे इन्हे पूर्ण पंडित माना गया है।


kikahani

Leave a Comment