Chhath Puja 2024: छठ पूजा के दौरान न करें ये 7 गलतियां

chhath puja 2023: बिहार तथा उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा पर्व यानी की छठ जल्द ही आने वाला है। लेकिन अगर छठ पूजा के दौरान अगर आप भी करतें हैं ये गलतियां तो आप बहुत कस्ट में पड़ सकतें हैं। और अगर आप व्रत (chhath puja vrat) कर रहें हैं या फिर आपके घर में को व्रत कर रहें हैं तो आपका व्रत भी विफल हो सकता है।

देखा जाये तो छठ पूजा (chhath puja) हिन्दू धर्म का सबसे कठिन व्रत है। क्योंकि जो लोग छठ व्रत को रखतें है वो पुरे 36 घंटे तक न ही कुछ खा सकते हैं न ही कुछ पी सकतें हैं। तो चलिए जानते हैं की ऐसी कौन सी गलतियां है जो आपको छठ पूजा में भूल कर भी नहीं करना चाहिए।

Chhath Puja 2023
Chhath Puja 2023

Table of Contents

Chhath Puja 2023: बिना स्नान किये नहीं करना चाहिए प्रशाद ग्रहण

सर्वप्रथम आपको छठ पूजा के प्रशाद को बिना स्नान किये नहीं ग्रहण करना चाहिए। वैसे तो कहा जाता है की अगर आपके घर पर छठ व्रत नहीं भी हो रहा है फिर भी आप मांग कर ही थोड़ा प्रशाद ग्रहण जरूर कर लें।

लेकिन अगर आपके घर में छठ पूजा नहीं भी हो रहा और आप किसी के यहाँ जा कर प्रशाद ग्रहण भी नहीं कर सकते फिर आप इस दिन बिना स्नान किये खाना नहीं खाएं।

और अगर आप प्रशाद ग्रहण कर रहें हैं तब जो यह व्रत कर रहें हैं उनसे थोड़ा सा उनका जूठा मांग ले तथा कोशिश करें की उन जूते वररत्न को आप ही साफ़ करें। हालाँकि ये सिर्फ तभी हो सकता है जब व्रत आपके यहाँ हो रहा हो। लेकिन आपको कोशिश जरूर करनी चाहिए।

Maha Parv Chhath Puja 2023: खड़ना के दिन आपको रोटी नहीं खानी चाहिए।

Chhath Puja 2023
Chhath Puja 2023

Maha Parv Chhath Puja: जैसा की आपको पता होगा की छठ पूजा me खड़ना का महाप्रसाद गेहू से बानी छोटी रोटी तथा खीर ही होता है। इसीलिए कहा जाता है की इस दिन आपको गेहूं से जुडी कोई भी खाद्य पदार्थ ग्रहण नहीं करनी चाहिए।

बहुत सारे बुद्धिजीवी का कहना यह होता है की खड़ना तो रात में होता है इसीलिए हम दिन में रोटी या फिर गेहूं से बने कोई भी सामान को ग्रहण कर सकते हैं लेकिन ऐसा नहीं होता। खड़ना के दिन आपको कभी भी गेहूं से बने किसी भी चीज को हाँथ तक नहीं लगाना चाहिए।

Chhath Puja 2023 Mistakes: दूध से बने पदार्थों का भी नहीं करना चाहिए सेवन

Maha Parv Chhath Puja: और सिर्फ गेहूं ही नहीं बल्कि आपको दूध से जुड़े पदार्थ को भी नहीं ग्रहण करना चाहिए। बल्कि अगर आपके घर पे गाय या भैंस दूध देती है।

और उसका बच्चा भी है और आपके घर पे व्रत नहीं हो रहा तब आपको उस दूध को उनको दे देना चाहिए जिनके यहाँ छठ पूजा का व्रत हो रहा है। इससे आपका भी थोड़ा योगदान उस व्रत में हो जाता है।

खड़ना का महाप्रशाद मिल-बाँट कर खाना चाहिए।

Maha Parv Chhath Puja: खड़ना में दो प्रशाद बनते तथा चढ़ते है। एक तो वो जिससे सिर्फ जो कर रहें हैं उनके बच्चे खा सकतें है (जिसे हमलोग नेउ भी कहते है) और दूसरा वो जिससे सब खा सकतें हैं। तो आपको जो महाप्रसाद ( नेउ ) को अपने भाई बहनो में बाँट कर खाना चाहिए।

तथा इसका एक भी बून्द या एक भी दाना व्यर्थ नहीं जाना चाहिए क्योंकि यह प्रशाद भगवन को अर्पित किया जाता है तथा यह नए धान के चावल से बनता है इस करना से इसको व्यर्थ करना अशुभ माना जाता है। साथ ही आपको छठ का कोई भी प्रशाद व्यर्थ नहीं करना चाहिए।

दौरा या फिर छठ व्रती पैदल ही घाट पर जाएँ

आज कल लोग क्या करतें हैं की छठ घाट पर भी पैदल नहीं जाते चाहे वो कितना भी पास क्यों न हो। और तो और वो छठ पूजा का जो दौरा होता है उससे भी अपने सर के बजाय गाडी से ही ले जाते हैं।

देखिये ऐसा करना बिलकुल भी सही नहीं है। कहा जाता है की जबतक आपको थोड़ा कस्ट न हो तबतक पूजा का कोई मतलब ही नहीं होता है। और प्रभु के दरबार में तो आप साल में एक बार ही जातें हैं और उसमे भी अगर आप थोड़ा कास्ट नहीं झेलेंगे तो फिर पूजा का क्या मतलब रहेगा।

इन परिश्थितिओं में कर सकतें हैं गाडी का उपयोग

और बरती का तबियत अगर ठीक नहीं है या फिर वो बहुत बुजुर्ग है ऐसे समय में आप गाडी का उपयोग कर सकतें हैं उनको ले जाने के लिए। लेकिन फिर भी उनको घाट से 50 मीटर पहले से पैदल चलना चाहिए तथा घर से भी निकलते वक्त कमसे कम ५० मीटर तो पैदल चलना चाहिए।

अगर आप छठ पूजा कही दूर घात पर जा कर कर रहें हैं तब आप गाडी का उपयोग कर सकतें हैं लेकिन फिर भी आपको छठ घाट से कुछ दूर पहले ही उतर जाना चाहिए और फिर पैदल चलना चाहिए।

समय पर सूर्य भगवन को अर्ग देंChhath Puja 2023 Mistakes

Chhath Puja 2023: देखिये बहुत सारे लोग अर्ग देते समय बहुत ही ज्यादा गलती करतें हैं। जैसे की वो लोग संध्या अर्ग के दौरान जब सूर्य भगवन अस्त भी नहीं हो रहे होतें हैं उसी समय अर्ग देतें है। लेकिन आपको ऐसा नहीं करना चाहिए।

जब सूर्य भगवन पूर्णतः अस्त न हो रहें हों यानि की जब सूर्य भगवन की लालिमा नहीं दिख रही हो तब तक आपको अर्ग नहीं देना चाहिए। तथा सुबह में भी सूर्य भगवन के उदय होने के दौरान ही आपको अर्ग देना चाहिए।

देखिये कहा ही जाता है की उगते सूर्य की तो पूजा सब करते हैं लेकिन डूबते सूर्य की पूजा तथा उपासना सिर्फ छठ पूजा के दौरान किया जाता है। इसीलिए आपको समय रहतें सूर्य देव की पूजा करनी चाहिए।

प्रसाद के साथ पारण वाली सरबत भी ग्रहण करें।

Chhath Puja 2023 Mistakes: सुबह के अर्ग पूर्ण होने के बाद प्रसाद ग्रहण करे साथ ही में जो सरवत व्रती लोग तैयार करते हैं पारण करने के लिए उसे जरूर से ग्रहण करना चाहिए। क्योंकि जब माताएं तीन दिन का व्रत उस सरवत से खोलती है तो उसमे जो आशीर्वाद रहता है उसका बात ही अलग होता है।

इसीलिए आपको प्रसाद के साथ साथ सरवत भी ग्रहण करना चाहिए। साथ ही जो वस्त्र व्रती लोग व्रत के दौरान पहनते है उनको धो कर उनसे अपना मुँह तथा सरीर जरूर पोंछ लें।

सूर्य मंदिर में जाकर सूर्य देव का दर्शन जरूर करें।

Maha Parv Chhath Puja 2023: देखिये बहुत सारे लोग क्या करतें हैं की छठ घाट तो जाते हैं लेकिन वही दूर से मंदिर पे भिंड देख कर दूर से ही भगवान् को प्रणाम करके चल देतें हैंलेकिन आपको ऐसा नहीं करना चाहिए।

पूजा हो जाने के बाद आपको सूर्य मंदिर में जाकर सूर्य भगवान का दर्शन जरूर करें और घाट पर बहुत सारे लोग अरग देते हैं तो पूजा के किसी भी सामग्री को लंघना नहीं चाहिए।


kikahani

2 thoughts on “Chhath Puja 2024: छठ पूजा के दौरान न करें ये 7 गलतियां”

Leave a Comment

छठ पूजा में अगर आपने किये ये 7 काम तो पुण्य तो छोड़िये पाप लगेगा आपको
छठ पूजा में अगर आपने किये ये 7 काम तो पुण्य तो छोड़िये पाप लगेगा आपको