12 Jyotirlinga name and place list PDF: 12 ज्योतिर्लिंग कहाँ कहाँ स्थापित है?

ज्योतिर्लिंग क्या हैं और यह कहाँ कहाँ स्थापित है। कुल कितने ज्योतिर्लिंग हैं और उनके नाम क्या क्या है। ये ज्योतिर्लिंग हमे क्या वरदान देते हैं और इनकी क्या विशेषता है। ये ज्योतिर्लिंग से जुड़े सारे रहस्य और ज्ञान जानने के लिए आप एक सही जगह पे आए है। आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से सभी तरह की जानकारी देंगे बस आप इस पूरे आर्टिकल को बढ़िया से पढ़िएगा।

भगवान शंकर जी के शिवलिंग को ज्योतिर्लिंग कहते है12 Jyotirling name in Hindi

भगवान शंकर जी के शिवलिंग को ही हम सब ज्योतिर्लिंग कहते है। और देवों के देव महादेव भगवान शंकर जी के अनेक नाम है। उन्ही नामो में से किसी को ज्योतिर्लिंग कहते है तो किसी को नाथ। ये दो प्रकार की भोले बाबा की प्रतिमा या कहे ये शिवलिंग का नाम है।

और विभिन्न स्थानों पर भिन्न भिन्न नामो से उन्हें जाने जाते है। उन्ही में से 12 ज्योतिर्लिंग है। तो वहीं नाथ की तो कोई वर्णन ही नहीं है। पर ये 12 ज्योतिर्लिंग हमे क्या क्या वरदान देते हैं और इनकी क्या विशेषता है।

12 ज्योतिर्लिंग के नाम – 12 Jyotirlinga name and place list PDF:

12 Jyotirlinga name and place list PDF
12 Jyotirlinga name and place list PDF

1) सोमनाथ
2)मल्लिकार्जुन
3)महाकाल
4)ओंकारेश्वर
5) केदारनाथ
6)भीमशंकर
7)विश्वनाथ
8)त्रयम्बक
9) नागेश
10) रामेश्वरम
11) घुश्मेश
12)वैघनाथ

ये तो 12 ज्योतिर्लिंग का नाम है। अब इनके बारे में पूरी जानकारी आगे चल कर देंगे। और इनके गुणों के बारे में जानते हैं।

12 Jyotirlinga name and place list PDF: मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग

मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग उन्हीं 12 ज्योतिर्लिंग में से एक है। और ये आंध्र प्रदेश में इथित है। मान्यता ये है की जो भी भक्त सावन के महीने में दर्शन भी कर लेता है तो उनकी सारी मनोकामना पूर्ण हो जाती है। कहते है की जो भक्त सच्चे मन से मल्लिकार्जुन की पूजा करता है उसे यग‌ करने और कराने के बराबर फल की प्राप्ति होती है। और उसे हर एक सुख सुविधा और संपति की प्राप्ति होती है। और मन के अनुरूप फल प्राप्त होता है।

12 Jyotirlinga name and place list PDF: ओंकारेश्वर ज्योर्तिलिंग

ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग मध्य प्रदेश में स्थित है। और इनकी एक बहुत पुरानी कहानी है की ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग को सबसे पहले भील जनजाति के लोगो ने पूजा था। भील एक प्रकार की आदिवासी को कहते है। ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग की महिमा ये है की जो भी व्यक्ति पूजा पाठ करता है, उस व्यक्ति को पूरे जीवन के पाप कट जाते है। और शिव लोक की प्राप्ति होती है।

Read More Hindi story

12 jyotirlinga name in hindi: केदारनाथ ज्योतिर्लिंग

केदारनाथ ज्योतिर्लिंग उत्तराखंड में स्थित हैं। और इस ज्योतिर्लिंग की महिमा भी अप्रमपार है। और यह भगवान शिव जी के रौद्र रुप को दर्शाता है। कहा जाता है की जो भी व्यक्ति बदरीनाथ की यात्रा कर के केदार नाथ को जाता है, उस व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस बात पर कोई संदेह नहीं है। पक्का उस व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति होती है।

सोमनाथ ज्योतिर्लिंग – 12 Jyotirling Kahan Kahan Hai

12 Jyotirling Kahan Kahan Hai: सौराष्ट्र में स्थित सोमनाथ ज्योतिर्लिंग भगवान भोले बाबा को अत्यंत प्रिय है। इस लिए सोमनाथ ज्योतिर्लिंग मंदिर में पूजा याचना करने से आपके सारी पर्शनी से छुटकारा मिल जाता है। और आपके जीवन में सुख शांति और शीतलता बनी रहेगी। इस लिए अपने जीवन में एक बार सभी ज्योतिर्लिंग का दर्शन जरूर करना चाहिए।

12 Jyotirling Kahan Kahan Hai: महाकाल ज्योतिर्लिंग

महाकाल ज्योतिर्लिंग मध्य प्रदेश के उज्जैन में स्थित है। महाकाल की लीला कौन नहीं जानता। उज्जैन में महाकाल के दर्शण करने के लिए लाखो की संख्या में लोग जाते है। और अपनी मुरादे पूरी कर के वापस आते है। इनके दर्शन मात्र से आपके ऊपर आई मौत को टाल देते है। और आपके ऊपर आई मरन मोहन और उच्चाटन से छुटकारा पाने के लिए लोग यहाँ जाते है। और वहां तो स्वयं महाकाल ही विराजमान हैं तो फिर किस बात की चिंता। तो फिर चलिए चलें महाकाल की दर्शन को।

12 jyotirlinga name in hindi: भीमशंकर ज्योतिर्लिंग

भीमशंकर ज्योतिर्लिंग मंदिर महाराष्ट्र में स्थित हैं। और भीमशंकर ज्योतिर्लिंग को मोटेश्वर महादेव के नाम से भी जाना जाता है। क्योंकि इस शिवलिंग का मोटापा बहुत ज्यादा होने के कारन इस शिवलिंग को मोटेश्वर महादेव भी कहा जाने लगा। और मंदिर के बगल से बहने वाली नदी का नाम भी भीम है। भीमशंकर ज्योतिर्लिंग अमोघ है। इसके दर्शन मात्र से ही सभी मनोकामना पूर्ण होती हैं। छत्रपति शिवाजी भीमशंकर ज्योतिर्लिंग की पूजा करने बहुत बार आया करते थे।

विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग12 jyotirlinga name in hindi

काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग उतर प्रदेश के शहर वाराणसी में है। और काशी विश्वनाथ के दर्शन मात्र से ही आपके जीवन के सारे पाप कट जाते है। और कहा जाता है की काशी विश्वनाथ की पूजा पाठ करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। क्योंकि हिंदू धर्मो के अनुसार काशी में चिता जलना कितना शुभ माना जाता है। कहा जाता है की अगर इस धरती पर हिन्दू धर्म के लिए कोई सबसे प्राचीन जगह है तो वो है काशी विश्वनाथ।

त्रयंबक ज्योतिर्लिंग12 jyotirlinga name in hindi:

त्रयंबक ज्योतिर्लिंग महाराष्ट्र के नाशिक जिले में स्थित है। ये 1000 साल पुरानी ज्योतिर्लिंग की महिमा निराली है। और इन्हे त्र्यंबकेश्वर नाम से भी जाना जाता है। कहा जाता है की इस मंदिर में बिना शिवलिंग की पूजा होती है। क्योंकि औरंगजेब ने 1690 में इस मंदिर के शिवलिंग को तोड़ दिया था।

नागेश्वर ज्योतिर्लिंग – 12 jyotirlinga

नागेश्वर ज्योतिर्लिंग गुजरात के द्वारका से थोड़ा दूर पर स्थित है। नागेश्वर का अर्थ होता है नागो के देवता। यानी की नागेश्वर ज्योतिर्लिंग नागो के देवता हैं। जिनके कुंडली में शर्प दोष है, उन व्यक्ति को यहाँ पे सोने-चांदी या तांबे-पिट्टल का नाग देवता बनाकर दान देनी चाहिए।

12 jyotirlinga name in hindi: रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग

रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग तमिलनाडु में स्थित और सबसे महान ज्योतिर्लिंग माना जाता है क्योंकि इस ज्योतिर्लिंग की स्थापना स्वयं प्रभु श्री राम जी ने किया था। कहा जाता है की यहाँ पर रामनाथस्वामी के रूप में पूजा की जाती है। लंका जाने से पहले समुन्द्र में पुल निर्माण के समय त्रेता युग में प्रभु श्री राम जी ने इस मंदिर का स्थापना किया था। और यहाँ पर एक कुंड भी है जिसमे स्नान करने से सारे पापो से मुक्ति मिल जाती है।


kikahani

2 thoughts on “12 Jyotirlinga name and place list PDF: 12 ज्योतिर्लिंग कहाँ कहाँ स्थापित है?”

Leave a Comment