देवी चित्रलेखा जीवन परिचय | Devi Chitralekha biography in Hindi [Jivan Parichay, Wikipedia]

देवी चित्रलेखा जीवन परिचय [Devi Chitralekha Biography in Hindi] – पिछले कुछ दिनों में इंटरनेट पर एक देवी चर्चा का विषय बनी हुईं है। और आप सभी उनके बारे में जानने के लिए बहुत उत्सुक हैं। और उनके बारे में इंटरनेट पर बहुत सर्च किया जा रहा है। उनका नाम है देवी चित्रलेखा।

तो दोस्तों आज का यह आर्टिकल देवी चित्रलेखा जी के बारे में ही है। और इस आर्टिकल के माध्यम से हम देवी चित्रलेखा जी का जीवन परिचय (biography of Devi Chitralekha or Devi Chitralekha Biography in Hindi) देने का कोशिश करेंगे।

Table of Contents

देवी चित्रलेखा जीवन परिचय संक्षिप्त में [ Devi Chitralekha Biography Highlights]

नामदेवी चित्रलेखा
जन्म (Date of Birth)19 जनवरी, 1997
जन्म स्थानपरवल, हरियाणा
पितातुकाराम शर्मा
माताचमेली देवी
पतिमाधव प्रभु
निवास स्थान (पता)परवल, हरियाणा
व्यवसाय/करियरकथा, भजन
ट्रस्ट का नामवर्ल्ड संकीर्तन यात्रा ट्रस्ट
उम्र (Age)26 वर्ष (2023 के अनुसार)
शिक्षा (Education & Qualifications)स्कूली पढ़ाई गांव के सरकारी स्कूल से पूरी की।
कांटेक्ट नंबर (mobile number)+91790*****40
संपत्ति कमाई (income) 1-2 लाख प्रतिदिन (भागवत कथा, भजन)

Shri hit premanand govind Sharan ji maharaj Wikipedia biography

देवी चित्रलेखा का जीवन परिचय / जीवनी (Devi Chitralekha Biography in Hindi)

devi chitralekha bio wikipedia

देवी चित्रलेखा कौन है? ( Who is Devi Chitralekha?)

देवी चित्रलेखा जी का जन्म 19 जनवरी 1997 को हरियाणा के परवल जिले के एक छोटे से गांव खांबी में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था। इनके एक भाई भी हैं जिनका नाम प्रत्यक्ष शर्मा है। देवी चित्रलेखा जी का पूरा नाम चित्रलेखा शर्मा है। और इनके पिता जी का नाम तुकाराम शर्मा तथा माता जी का नाम श्रीमती चमेली देवी है। और इनके दादा जी का नाम स्वर्गीय श्री राधा किशन शर्मा व दादी जी का नाम किशन देवी है।

देवी चित्रलेखा जी का बचपन (प्रारंभिक जीवन परिचय)

बचपन से ही चित्रलेखा जी का भक्ति-भजन व कथा-प्रवचन सुनने में बहुत मन लगता था। इनकी रुचि बाल्यावस्था से ही आध्यात्मिक उपदेश व कथावाचन में था। जिसके कारण महज 4 वर्ष की आयु में यह बंगाली गुरु श्री गिरधारी बाबा की संस्था से जुड़ गई थी। और यहीं से शास्त्रों का अध्ययन किया। इसके साथ ही वे अपने स्कूल की पढ़ाई भी कर रही थी जो उनके गांव का ही सरकारी स्कूल था।

देवी चित्रलेखा जी ने 6 वर्ष की आयु में अपना प्रथम उपदेश दिया था जो उत्तरप्रदेश के बरसाने जिला के एक छोटे से गांव में संपन्न हुआ। इस गांव में एक कार्यक्रम हो रहा था। और वहां पर एक व्यक्ति थे जिनका नाम बाबा रमेश था। उन्होंने चित्रलेखा जी को माइक पकड़ाते हुए कुछ बोलने को कहा। जिसपर चित्रलेखा जी लगातार आधे घण्टे तक बिना रुके बोलती रही। और इस प्रकार बरसाने में कुल 7 दिनों तक भागवत कथा का आयोजन किया गया।

7 दिन के इस कार्यक्रम को देखने के लिए बहुत ज्यादा भीड़ उमड़ पड़ी और सभी अचंभित थे कि कैसे कोई महज 6 वर्ष की कन्या इतने मधुर मन से प्रभु जी की कथा कर रही हैं। लोगो ने देवी चित्रलेखा जी को बहुत आशीर्वाद दिया और प्रेम पूर्वक कथा का आनंद लिया।

बताया जाता है की जब देवी चित्रलेखा जी 7 दिनों का भागवत कथा कर रही थी, उसी बीच उनके सपने में श्री राधा महारानी दर्शन दिए और उनसे खूब बाते की और उन्हें आशीर्वाद भी दिया था। नींद पूरी होने के बाद इस बात को देवी चित्रलेखा जी अपने माता पिता के साथ साझा करती है। जिसके बाद सभी राधा रानी जी की पूजा-आराधना करते है। जिसके बाद देवी चित्रलेखा का मनोबल और आत्मविश्वास और भी बढ़ गया। 

फिर वे कई स्थानों पर भागवत कथा का आयोजन करने लगी और लोगो को कथा सुनने लगी। अब तो इनके कथा का सीधा प्रसारण टीवी पर भी होता है। साथ ही इन्होंने अपना एक यूट्यूब चैनल भी बना रखा है। आप इनके कथा का आनंद वहां से भी प्राप्त कर सकते है।

देवी चित्रलेखा के सफलता की कहानी (Success Story of Devi Chitralekha)

देवी चित्रलेखा जीवन परिचय | Devi Chitralekha biography in Hindi [Jivan Parichay, Wikipedia]

व्यक्ति यदि अपने जीवन में कुछ करने की ठान ले तो सारी कायनात उसकी मदद करने में जुट जाती है। ऐसा ही कुछ किस्सा है महान भागवत कथावाचक देवी चित्रलेखा जी की। देवी चित्रलेखा जी एक छोटे से गांव से उठकर पुरे विश्व में सनातन धर्म का डंका बजाया है। जिनको आज सिर्फ हमारा देश के ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में लोग जानते है।

इन्होंने महज 6 वर्ष की आयु में कथा करना तथा भजन गाना प्रारम्भ कर दिया था। इन्होंने भागवत कथा, भजन और कीर्तन का आयोजन विभिन्न स्थानों पर सफलतापूर्वक किया है। इनका सबसे ज्यादा लोकप्रिय भजन है “प्रभु आपकी कृपा से सब काम हो रहा है, करते हो तुम कन्हैया…मेरा नाम हो रहा है।” 

इन्होंने सन् 2008 में 10 मार्च को world sankirtan tour trust की स्थापना की थी। जिसके माध्यम से यह सनातन तथा भारतीय संस्कृति को विश्व भर में फ़ैलाने का कार्य कर रहीं हैं। यहाँ पर इन्होंने गायों के लिए गौशाला भी बनाया है। जहा अटकी भटकी गायों का पालन पोषण किया जाता है।

एक दिन वे अपनी गाड़ी से कहीं यात्रा पर कर रही थी तो उन्हें मार्ग में एक गाय दिखाई दी जो सड़क दुर्घटना के कारण बहुत ज्यादा घायल थी और तड़प रही थी। इस दृश्य ने उन्हें अंदर से झकझोर कर रख दिया था।

जिसके बाद वे 2013 में हरियाणा के पनवेल में गौशाला का निर्माण कराया और उनके पालन पोसन व इलाज की व्यवस्था की। तथा अब वह नियमित रूप से उन गायों का ख्याल रखती और समय समय पर खुद जाके भी ऊनि सेवा करतीं हैं।

अनिरुद्धाचार्य जी महाराज का जीवन परिचय

चित्रलेखा जी का शारीरिक मापदण्ड (Devi Chitralekha Biography, Age, Hight, colour, weight)

लंबाई (Hight)5 ft 9 inch
रूप रंगगोरा रंग
वजन (Weight)59 kg (12/03/2023)
जूते की साइज7ind
आंखो का रंगहल्का काला भुरा रंग

सम्मान व अवार्ड (Award)

2019 ko इन्हे आध्यात्मिक जगत के सबसे युवा उपदेशक होने के लिए वर्ल्ड बुक रिकार्ड भी मिल चुका है।

वर्ल्ड संकीर्तन यात्रा ट्रस्ट का एड्रेस पता ( devi chitralekha address)

देवी चित्रलेखा मोबाइल नंबर (devi chitralekha mobile number)

देवी चित्रलेखा जी के मोबाइल नंबर के संबंध में कोई जानकारी नहीं है लेकिन अगर आप उनसे संपर्क करना चाहते है तो उनके सोशल मीडिया पर जा के कांटेक्ट करने की कोशिश कर सकते है।

देवी चित्रलेखा जी का सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म 

Instagram
Facebook
YouTube
Website

देवी चित्रलेखा जी से संबंधित कुछ रोचक तथ्य

  • इन्हे हारमोनियम बजाना बहुत पसंद है।
  • स्कूल के दिनों से ही हारमोनियम बजाने लगी थी।
  • भजन कीर्तन करते समय हारमोनियम का ही इस्तेमाल करती है।
  • मेरा आपकी कृपा से इनका सबसे अधिक लोकप्रिय भजन रहा है।
  • इनके पति का नाम माधव प्रभु है जो छत्तीसगढ़ के रहने वाले है।
  • चित्रलेखा जी ने अपना विवाह गौशाला में ही की थीं।
  • इसके साथ इन्हे अन्य इंस्ट्रूमेंट बजाना बहुत पसंद है।

देवी चित्रलेखा जी के जीवन से संबंधित सवाल -FAQs

रियल नाम क्या है चित्रलेखा जी का? [What is the real name of Devi Chitralekha?]

देवी चित्रलेखा जी का असली नाम रियल नाम “चित्रलेखा शर्मा” है।

चित्रलेखा की उम्र कितनी है? [What is the age of Chitralekha]

चित्रलेखा जी की उम्र 2023 के अनुसार 26 वर्ष है।

चित्रलेखा जी की शादी कब हुई थी?

चित्रलेखा जी के कितने बच्चे है?

देवी चित्रलेखा के गुरु कौन है? [who is Devi Chitralekha guru]

देवी चित्रलेखा जी कौन हैं?

देवी चित्रलेखा जी का जन्म कब और कहा हुआ?

देवी चित्रलेखा की उम्र कितनी हैं?

चित्रलेखा की फीस कितनी है?

देवी चित्रलेखा जी की शादी किससे हुई?

1 thought on “देवी चित्रलेखा जीवन परिचय | Devi Chitralekha biography in Hindi [Jivan Parichay, Wikipedia]”

Leave a Comment